blogid : 311 postid : 3474

आशिक की तकलीफ

Posted On: 5 Mar, 2013 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Hindi Jokes

एक आशिक से किसी ने पूछा: कहो जी, तुम्हारी माशूका तुम्हें क्यूं नहीं मिली?
बेचारा उदास हो कर आशिक बोला: यार कुछ न पूछो. मैंने इतनी खुशामद की कि उसने अपने को सचमुच की परी समझ लिया और हम आदमियों से बोलने में भी परहेज किया.


************


कामवाली है सबसे हावी: Hindi Jokes

एक महल बनाने के लिए हज़ारों मजदूर लगते हैं…
लाखों सैनिक देश की रक्षा के लिए,
पर सिर्फ एक औरत घर को खुशहाल बनाने के लिए!
आइये धन्यवाद दें… कामवाली को.


************


Hindi Jokes

क्लास में टीचर ने बच्चों को टीचर विषय पर निबंध लिखने को दिया.
थोड़ी देर बाद ही पप्पू की आवाज सुनाई दी- टीचर, बेवकूफ में बड़ा “ऊ” आएगा या छोटा “उ”.


*******


Hindi Jokes

एक बार संता अपने दोस्त से कह रहा था: अपनी बीवी की ऊट-पटांग बातें सुनकर कभी-कभी तो जी चाहता है कि उसे उठाकर चौथी मंजिल से नीचे फेंक दूं. मगर मैं ऐसा कर नहीं सकता.
बंता: क्यूं? क्या वह बहुत मोटी है?

संता: नहीं यार, सोचता हूं कि अगर वह बच गई तो मेरा क्या होगा?

Also Read-


Funny Ladka Ladki Chutkule

Hindi Chutkule

Tag: hindi Jokes, Hindi Jokes, Hindi Jokes in Hindi Font, Hindi Jokes SMS, SMS Hindi Jokes, Hindi Jokes 140 Words, हिन्दी जोक्स, हिन्दी चुटकुले, हिन्दी चुटकुला,चुटकुला



Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 1.67 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Welcome के द्वारा
June 11, 2016

SKAL man skrive hvor rå-ædende man er? Som i at jeg ofte spiser 1,5 portion for at blive mæt. Ofte mere end mine dreerevennng.Put mig ned i bowlen, så må vi se om jeg bliver trukket


topic of the week



latest from jagran