संता बंता के मजेदार चुटकुले

Posted On: 2 Mar, 2012 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Hindi Jokesसंता सिंह भागते-भागते डॉक्टर साहब के क्लीनिक में घुसा.
संता के सिर से खून बह रहा था, और उसके सारे कपड़े खून से सने हुए थे.
डॉक्टर: क्या हुआ, कैसे लगी?
संता ने बताया, “डॉक्टर साहब, मैं अपनी हवाई चप्पल से दीवार में कील ठोक रहा था…”
डॉक्टर ने हैरान होकर पूछा, “उससे सिर की चोट का क्या लेना-देना…?”
संता ने तपाक से कहा, “उसी वक्त मेरे पड़ोसी ने कहा, कभी-कभी दिमाग का इस्तेमाल भी कर लिया करो.”


******************

Hindi Jokes

लड़का: सर, मैं आपकी बेटी से 15 साल से प्यार करता हूं.

लड़की का पिता: तो अब क्या चाहते हो ?

लड़का: शादी.

लड़की का पिता: थैंक गॉड, मैंने सोचा शायद तुम पेंशन चाहते हो … !


******************


आदमी मशीन है!:Hindi Jokes

एक आदमी चौराहे पर खड़ा होकर कान खुजा रहा था.
संता
वहां से निकला तो बोला: भाई साहब मुझे लगता है आप स्टार्ट नहीं हो पा रहे हैं. आप कहें, तो मैं धक्का लगा दूं.


******************


आजकल के बच्चे: Hindi Jokes

टीचर: महात्मा गांधी कौन थे?
बच्चे: महात्मा गांधी वो थे, जिन्होंने मुन्ना भाई की लड़की पटाने में मदद की थी!



******************


जू के एक कर्मचारी ने दूर से देखा कि संता जैसे ही अपने बच्चों के साथ शेर के पिंजरे के आगे गया तो शेर मारे गुस्से से गुर्राया, चिल्लाया और कुछ ताकतवर कोशिशों के बाद बाहर निकल आया. उसने बच्चों को तो छोड़ दिया पर संता की टांग चबा डाली. जैसे-तैसे करके संता को बचाया गया.
बाद में उस कर्मचारी को पता चला कि शेर ने संता को क्यों काटा क्योंकि वो बच्चों को शेर की जानकारी देते वक्त बार-बार बता रहा था: “देखो इतनी बड़ी बिल्ली कहीं नहीं होती.”

Jokes in Hindi

Read Hindi News



Tags:                                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (7 votes, average: 2.71 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Keesha के द्वारा
June 11, 2016

My brother suggested I might like this blog. He was entirely right. This post actually made my day. You ca#n7n821&;t imagine just how much time I had spent for this information! Thanks!




latest from jagran